Sita Mata ki Aarti

देवी सीता माता // Shri Sita Mata 

Sita is a Hindu goddess and the heroine of the Hindu epic, Ramayana, and its other versions. She is described as the daughter of Bhūmi (the earth) and the adopted daughter of King Janaka of Videha and his wife, Queen Sunayana. 

ita is known for her dedication, self-sacrifice, courage and purity.

Sita, in her youth, chooses Rama, the prince of Ayodhya as her husband in a swayamvara—bride choosing the best from a crowd of suitors after a contest, where Rama proves his heroism and valor and martial power and “defeats” the other seekers for Sita’s hand in marriage. After the swayamvara, she accompanies her husband to his kingdom, but later chooses to accompany her husband, along with her brother-in-law Lakshmana, in his exile.

 

 सीता मातादेवी सीता एक प्रसिद्ध हिंदू देवी हैं जिन्हें उनके साहस, पवित्रता, समर्पण, निष्ठा और बलिदान के लिए पूजा जाता है। वह एक पत्नी, बेटी और एक माँ के रूप में भक्ति की प्रतिमूर्ति हैं। उसने शक्ति और साहस के साथ परीक्षणों और क्लेशों से भरा जीवन व्यतीत किया।

Find the Aarti to Shri Sita Mata in Hindi and English Below. सीता माता की आरती अंग्रेजी में|

आरती: सीता माता की

आरती श्री जनक दुलारी की । सीता जी रघुवर प्यारी की ॥

जगत जननी जग की विस्तारिणी,

नित्य सत्य साकेत विहारिणी,

परम दयामयी दिनोधारिणी,

सीता मैया भक्तन हितकारी की ॥

आरती श्री जनक दुलारी की । सीता जी रघुवर प्यारी की ॥

सती श्रोमणि पति हित कारिणी,

पति सेवा वित्त वन वन चारिणी,

पति हित पति वियोग स्वीकारिणी,

त्याग धर्म मूर्ति धरी की ॥

आरती श्री जनक दुलारी की । सीता जी रघुवर प्यारी की ॥

विमल कीर्ति सब लोकन छाई,

नाम लेत पवन मति आई,

सुमीरात काटत कष्ट दुख दाई,

शरणागत जन भय हरी की ॥

आरती श्री जनक दुलारी की । सीता जी रघुवर प्यारी की ॥

आरती सीता माता की अंग्रेजी में

Aarti Shri Janak Dulari Ki ।

Sita Ji Shri Raghubar Pyaari Ki ॥

Jagat Janani Jag Ki Vistaarini,

Nitya Satya Saaket Viharini,

Shri Sita Mata Aarti

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*

code